Home >> Politics 360 >> मोहित शुक्ला के चेयरमेन बनते ही बदलने लगी रेडक्रास की फिजा

मोहित शुक्ला के चेयरमेन बनते ही बदलने लगी रेडक्रास की फिजा

Aayushi Srivastava
Aayushinv360@gmail.com
Thursday, June 27, 2019, 06:09 PM
Red Cross Hospital

सौर ऊर्जा प्लांट से प्रति माह होगी दो से तीन लाख की बचत.. 

भोपाल। 1250 शिवाजी नगर स्थित रेडक्रास अस्पताल का नाम भोपाल के विश्वसनीय अस्पतालों में नम्बर वन पर आता है। यह एक ऐसा अस्पताल है जिस पर चाहे गरीब तबका हो या फिर अमीर वर्ग आंख मीच कर भरोसा करता है यहां के डॉक्टर हो या छोटे कर्मचारी सभी पूरे सेवाभाव के साथ मरीजों की सेवा करते हैं। यहां पर नये चेयरमेन मोहित शुक्ला जब से बने हैं, इस अस्पताल में दिनों-दिन नई सुविधाऐं प्राप्त होने लगी हैं। मोहित शुक्ला कहते हैं इस अस्पताल को लेकर उनका विजन एकदम स्पष्ट है, वह चाहते हैं कि मरीजों को यहां आने पर पूरा लाभ मिले। रेडक्रास कोई व्यवसायिक संस्था नहीं है बल्कि देश-विदेश में इसके सेवाभाव को सम्मान के नजरिये से देखा जाता है और मैं चाहता हूँ कि भोपाल के इस अस्पताल के प्रति भी लोगों का यही नजरिया बरकरार रहे।
  श्री शुक्ला ने यहां पर मरीजों से जो शुल्क ओपीडी और विभिन्न जांचों के लिये लिया जाता था उसमें भी पचास प्रतिशत की कमी कर दी है। रेडक्रास द्वारा संचालित मेडिकल स्टोर की शिकायत मिलने पर उन्होंने यह भी निर्णय लिया कि अब यह मेडिकल स्टोर बाहरी आदमी को ना देकर स्वंय रेडक्रास सोसायटी ही संचालित करेगी। मरीजों की सुरक्षा के लिये 32 कैमरे लगवाना भी इसी बदलाव की झलक दिखलाता है, इसके साथ ही सौर ऊर्जा प्लांट भी यहां पर लगाया गया है जिससे प्रति दिन 200 यूनिट बिजली प्राप्त हो रही है। इससे अस्पताल को प्रति माह दो से तीन लाख रुपये की बचत होना तय है। इस राशि को अस्पताल के विकास कार्यो में ही खर्च किया जायेगा।
 देखा जाये तो श्री शुक्ला के आने के बाद रेडक्रास की फिजा में आम आदमी को अपनेपन की महक आ रही है और यह महक उस मेहनत का नतीजा है जो कि श्री शुक्ला सारी आलोचनाओं को झेलते हुये कर रहे हैं।

Tags : Red Cross hospital